अयोध्या में मस्जिद का निर्माण शुरू ; इस मस्जिद में नमाज पढना हराम : असदुद्दीन ओवैसी - खडे बोल

Latest

HINDI NEWS | LATEST NEWS | BIG BREAKING NEWS |

बुधवार, 27 जनवरी 2021

अयोध्या में मस्जिद का निर्माण शुरू ; इस मस्जिद में नमाज पढना हराम : असदुद्दीन ओवैसी

अयोध्या में मस्जिद का निर्माण शुरू ; इस मस्जिद में नमाज पढना हराम : असदुद्दीन ओवैसी





उत्तर प्रदेश के अयोध्या में गणतंत्र दिवस के मौके पर तिरंगा फहराकर और वृक्षारोपण कर मस्जिद निर्माण का औपचारिक कार्य शुरू किया गया है । सुबह तकरीबन 8 बजे के करीब इसकी नींव रखी गई । 2019 के सुप्रीम कोर्ट के फैसले के अनुसार मंदिर निर्माण के साथ ही मस्जिद बनाने की मंजूरी दि गई थी । 



इंडो इस्लामिक कल्चरल फाउंडेशन ट्रस्ट, अयोध्या के धन्नीपुर गाँव में मस्जिद का निर्माण कर रहा है । जहां भगवान् राम का मंदिर बनाया जा रहा है, उससे मस्जिद निर्माण की जगह 25 किलोमीटर दूर है । वृक्षारोपण के साथ ही उस जगह की मिट्टी की जांच भी की गई ।

इंडो इस्लामिक कल्चरल फाउंडेशन ट्रस्ट के प्रमुख जफर अहमद फारूकी के अनुसार मिट्टी का परीक्षण किया जा रहा है । उसकी रिपोर्ट्स और टेकनिकल डिजाईन आने पर मस्जिद निर्माण का कार्य शुरू किया जाएगा ।

ट्रस्ट के मुताबिक अभी मस्जिद का नाम नही रखा गया है लेकिन इसका नाम किसी राजा के नाम पर नही रखा जाएगा ।


" बाबरी मस्जिद के एवज में बनाई जा रही मस्जिद में नमाज पढना, आर्थिक सहयोग देना हराम "


आॅल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने कर्नाटक के बिदर में एक जन सभा को संबोधित कर रहे थे । उन्होंने इस मस्जिद निर्माण की आलोचना करते हुए कहा की, बाबरी मस्जिद के एवज में जो मस्जिद बनाई जा रही है, उसमें नमाज पढना हराम है । और उस मस्जिद के निर्माण के पैसे देना गलत है । उन्होंने कहा मैं इस्लाम के हर संप्रदाय के मौलानाओं से पूछकर यह बता रहा हुं । आॅल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लाॅ बोर्ड भी इससे सहमत है ।


उन्होंने आवाहन किया की, उस मस्जिद निर्माण को पैसे देने से बेहतर है के गरिब लडकीयों की शादी कराओ । अगर किसी दलित भाई को जरूरत हो तो उसकी जरूरत को पुरा करिए । यतिम बच्चों को तालीम दिलाओ । लेकिन जो नाम-निहाद मस्जिद बनाई जा रही है, उसे किसी प्रकार का आर्थिक सहयोग मत करो ।


उन्होंने आगे कहा कि, मै जो कुछ भी कहता हूं वह संविधान के चौखट में ही कहता हूं । मुझे भारतीय संविधान बोलने की पुरी आजादी देता है । अबतक इस मामले पर कोई बोल नही रहा था । हम डटकर  बोलेंगे ।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

धन्यवाद् आपकी राय महत्वपूर्ण है ।