किसानों के ट्रैक्टर रैली को मिली परमिशन, इन शर्तों का पालन करना पडेगा - खडे बोल

Latest

HINDI NEWS | LATEST NEWS | BIG BREAKING NEWS |

सोमवार, 25 जनवरी 2021

किसानों के ट्रैक्टर रैली को मिली परमिशन, इन शर्तों का पालन करना पडेगा

किसानों के ट्रैक्टर रैली को मिली परमिशन, इन शर्तों का पालन करना पडेगा 



पिछले 50 दिन से भी ज्यादा दिन हो चुके है, किसान कृषि कानूनों को वापस लेनेके लिए दिल्ली में आंदोलन कर रहे है । गणतंत्र दिवस के मौके पर किसान दिल्ली में ट्रैक्टर रैली निकालकर अपनी विरोध दर्ज करना चाहते थे, इसी को लेकर दिल्ली पुलिस ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी । सुप्रीम कोर्ट यह पुलिस का अधिकार बताते हुए, इस ट्रैक्टर रैली के परमिशन का फ़ैसला पुलिस पर ही छोड़ा हुआ था ।

26 जनवरी गणतंत्र दिवस पर किसानों की ट्रैक्टर रैली निकालने पर किसान और पुलिस के बिच सहमती बन चुकी है । किसानों को कुछ शर्तों के साथ, तिन जगहों पर ट्रैक्टर मार्च को परमिशन दे दी है ।



दिल्ली पुलिस के स्पेशल कमिश्नर दिपक पाठक ने प्रेस कांफ्रेंस के जरिए बताया की,  किसानों की इच्छा है के दिल्ली में ट्रैक्टर रैली निकाली जाए । इस इच्छा को आदर और सम्मान के साथ सुरक्षित वातावरण में कराया जाएगा । किसानों और पुलिस के बीच तिन रूट फायनल हुए है । उन्होंने आगे कहा है के इस ट्रैक्टर रैली में बिगाड़ पैदा करने के लिए और किसानों में भ्रम फैलाने के लिए पाकिस्तान के अंदर 308 ट्विटर अकाउंट निकाले गए है ।

कुछ इस तरह से किसानों का ट्रैक्टर मार्च निकाला जाएगा :


1) पहला रूट : सिंघु बार्डर


सिंघु बाॅर्डर से यह मार्च शुरू होकर - संजय गांधी ट्रांसपोर्ट नगर - कंझावला - बवाना - चंडी बाॅर्डर - केएमपी एक्सप्रेस-वे पर जाकर, वापस फिर से सिंघु बाॅर्डर की और किसानों का ट्रैक्टर मार्च लौट आएगा । यह रूट तकरीबन 63 किलोमीटर लंबा होगा ।

2) दुसरा रूट : टीकरी बाॅर्डर


टीकरी बाॅर्डर से निकलकर,  नांगलोई - नजफगढ़ - झडौदा - वेस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस-वे तक यह रूट होगा । और यह रूट भी तकरीबन 63 किलोमीटर लंबा रूट होगा ।



3) तीसरा रूट : गाजीपुर बाॅर्डर


गाजीपुर से निकलकर, अप्सरा बाॅर्डर - हापुड रोड - ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस-वे तक यह मार्च जाएगा और यह रूट तकरीबन 46 किलोमीटर लंबा होगा ।


पुलिस की कुछ शर्तें  :


पुलिस ने सुरक्षा को देखते हुए कुछ शर्तों पर अमल करने के लिए कहा है । ट्रैक्टर मार्च के आगे पहले पुलिस होगी और पिछे किसानों की ट्रैक्टर रैली निकलेगी । किसानों के झंडे के साथ सबसे आगे भारत का तिरंगा भी होगा ।
इस प्रदर्शन में ट्रैक्टर की स्पीड 15-18 किलोमीटर/घंटे की होगी ।

बीकेयु के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने मीडिया से बात करते हुए कहा है के दिल्ली, हरियाणा और उत्तर प्रदेश की पुलिस के साथ सब तय हो चुका है । किसान जहाँ अपनी ट्रैक्टर रैली निकालना चाहिए रहे थे, वहाँ ट्रैक्टर रैली निकाली रहे है ।



गणतंत्र दिवस के मौके पर दिल्ली के आसपास कड़ी सुरक्षा रखी जाती है । इस सुरक्षा को लेकर कहा जाता है के इस दिन परिंदे भी पर नही मार सकता लेकिन इस बार किसानों का भव्य ट्रैक्टर मार्च का आयोजन पुलिस के सामने चुनौती की तरह रहेगा । 

इसी को देखते हुए पुलिस ने ड्रोन और सीसी टीवी के जरिए कड़ी नजर जमाए हुए है । साथ ही पुलिस एक्टिव काॅल्स पर नजर रखेगी । स्टंट करने वालों पर पुलिस की और से सख्ती बरती जाएगी । और हरियाणा और पंजाब से आने वाले वाहनों पर दिल्ली पुलिस कड़ी नजर रखेगी । इस रैली को देखते हुए तिन स्पेशल कंट्रोल रूम तैयार किए गए है । 

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

धन्यवाद् आपकी राय महत्वपूर्ण है ।