शिवसेना इस राज्य के चुनाव में हिस्सा लेकर बिगाड़ सकती है बीजेपी का खेल - खडे बोल

Latest

HINDI NEWS | LATEST NEWS | BIG BREAKING NEWS |

शुक्रवार, 8 जनवरी 2021

शिवसेना इस राज्य के चुनाव में हिस्सा लेकर बिगाड़ सकती है बीजेपी का खेल

शिवसेना इस राज्य के चुनाव में हिस्सा लेकर बिगाड़ सकती है बीजेपी का खेल 


                image source : google | image by : wikimedia commons


शिवसेना के संस्थापक अध्यक्ष बाला साहब ठाकरे को महाराष्ट्र भर में ही नही पुरे भारत भर में आस्था के नजरों से देखा जाता है । उनके पुत्र उद्धव ठाकरे महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री के कुर्सी पर विराजमान है । वह भी हमेशा हिंदुत्व की बात करते आए है । लेकिन महाराष्ट्र में शिवसेना, बीजेपी से अलग होकर काँग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस के साथ गठबंधन कर सरकार स्थापन की हुई है ।

एक वक़त था जब दोनों पार्टियों के नेता एक ही थाली में खाना खाया करते थे । दोनों दल अलग होते हुए भी कार्यकर्ता एक दुसरे पार्टी के नेताओं की इज्ज़त करते हुए दिखाई देते हैं ।

मिडिया रिपोर्ट्स अनुसार शिवसेना पश्चिम बंगाल में होने जा रहे चुनाव में उतर सकती है । शिवसेना वहाँ तकरीबन 100 उम्मीदवार देने का विचार कर रही है ।

शिवसेना कोलकाता, हुगली, दमदम समेत कई इलाकों में अपने उम्मीदवार खड़े करेगी । हालांकि चुनाव लड़ने पर अंतिम निर्णय 29 जनवरी को पार्टी मीटिंग में लिया जा सकता है ।

मीडिया रिपोर्ट्स अनुसार महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे पश्चिम बंगाल का दौर भी कर सकते है ।

बीजेपी और शिवसेना की विचारधारा एक होने के कारण बीजेपी को इसका अच्छा खासा नुकसान हो सकता है ।  दोनों पार्टियाँ हिंदुत्व की ही बात करती है । ऐसे मे बीजेपी के खिलाफ़ उम्मीदवार देने से वोटों का बंटवारा होगा, ऐसा माना जा रहा है ।

शिवसेना ने इस बार हुए बिहार विधानसभा चुनाव में भी हिस्सा लेकर अपने तकरीबन 25 उम्मीदवार वहाँ खडे किए थे । जानकारों के मुताबिक इस विधानसभा चुनाव से पहले हुए विधानसभा चुनावों में बीजेपी को ज्यादा नुकसान उठाना पड़ा था । लेकिन इस बार कोई भी बड़ा नेता शिवसेना का चुनाव प्रचार के लिए नही दिखा । इस बार बिहार में हुए विधानसभा चुनावों में शिवसेना के अपेक उम्मीदवारों की जमानत भी गंवा दी थी ।

महाराष्ट्र में शिवसेना और बीजेपी के बीच संघर्ष चल रहा है । बीजेपी को नुकसान पहुंचाने के लिए और अपना संगठन महाराष्ट्र के बाहर भी विस्तारित करने के लिए शिवसेना प्रयत्नशील है । शिवसेना की छवि हिंदुत्ववादी होने के कारण कहीं न कहीं बीजेपी को पश्चिम बंगाल में कुछ छोटे-मोटे नुकसान को सहन करना पडेगा । सूत्रों के मुताबिक पश्चिम बंगाल में जहाँ हिंदु समुदाय की आबादी ज्यादा है, ऐसे क्षेत्रों में शिवसेना अपने उम्मीदवार उतार कर बीजेपी के सामने मुसीबत खड़ी करेगी ।

बीजेपी के लिए पश्चिम बंगाल जितना अब इज्जत का सवाल बन चुका है । बीजेपी के कद्दावर नेता पश्चिम बंगाल के लगातार दौरे पर है । ऐसे में शिवसेना के उम्मीदवार देने से बीजेपी के वोट बिखरने का खतरा है । जानकारों के मुताबिक शिवसेना को यहाँ ताकत के साथ उतरना चाहिए, वरना यहाँ भी बिहार जैसा हाल होगा ।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

धन्यवाद् आपकी राय महत्वपूर्ण है ।